माननीय प्रधानमंत्री ने राष्ट्र की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण हो जाने पर वर्ष 2022 तक सभी के लिए आवास की परिकल्पना की है। इस उद्येश्य की प्राप्ति के लिए केन्द्र सरकार ने एंक व्यापक मिशन "2022 तक सबके लिए आवास" शुरू किया है। 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इस बहुप्रतीक्षित योजना को प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम से प्रारम्भ किया है।
Hon’ble Prime Minister envisioned housing for All by 2022 when the Nation completes 75 years of its Independence. In order to achieve this objective, Central Government has launched a comprehensive mission “Housing for All by 2022”. This much awaited scheme has been launched by the Prime Minister of India, Sh. Narendra Modi on 25th June, 2015 as Pradhan Mantri Awas Yojana.

Enter your email address:


Subscribe for Latest Schemes of Government via e-mail Daily
Free ! Free ! Free!

Delivered by FeedBurner

Thursday, February 2, 2017

केंद्रीय बजट – 2017-18 पर प्रधानमंत्री का बयान

इस बार का केन्द्रीय बजट एक ऐतिहासिक बजट बन गया। पहली बार आम बजट और रेल बजट एक साथ पेश किया गया। नोटबन्दी के पश्चात उसके भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों के कारण भी यह बजट बहुप्रतीक्षित था। हांलाकि वर्षों पुरानी परम्परा को तोड़ते हुए इस बार 1 फरवरी को बजट पेश किया गया।
यहां प्रस्तुत है केन्द्रीय बजट पर प्रधानमंत्री के विचार : 

केंद्रीय बजट – 2017-18 पर प्रधानमंत्री का बयान

हमारे देश के वित्‍तमंत्री अरुण जेटली जी को उत्‍तम बजट देने के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूँ। ये एक ऐसा बजट है जो गरीब को सशक्‍त बनाएगा बुनियादी ढॉंचे को और मजबूत भी बनाएगा, गति भी देगा हर किसी की उम्‍मीदों को अवसर देगा, अर्थ तंत्र को एक नई ताकत देगा, नई मजबूती देगा और विकास को बहुत तेजी देगा। इस बजट में हाइवे भी बने आइवे भी बढे, दाल के दाम से लेकर Data की स्‍पीड तक, रेलवे के Modernization से लेकर के सरल economic निर्माण करने की दिशा में, शिक्षा से लेकर के स्‍वास्‍थ्‍य तक, उद्यमी से लेकर उद्योग तक, Textile manufacturing से ले करके Tax deduction तक हर किसी के सपने को साकार करने का ठोस कदम इस बजट में साफ-साफ नजर आता है। इस ऐतिहासिक बजट के लिए वित्‍तमंत्री के साथ- साथ उनकी पूरी टीम भी अभिनंदन के अधिकारी हैं।
ये बजट देश के विकास के लिए पिछले ढाई वर्ष में जो कदम उठाए गए, जो फैसले लिए गए और भविष्‍य में और मजबूती के साथ आगे बढ़ने के इरादों के बीच ये एक बहुत महत्‍तवपूर्ण कड़ी है। इस बजट को मैं देख रहा हूँ, एक अन्‍य महत्‍तवपूर्ण कदम है कि रेलवे बजट को General Budget में merge कर दिया गया है। इससे पूरे ट्रांसपोर्ट सेक्‍टर उसको Integrated planning में मदद मिलेगी।

देश में परिवहन से जूड़ी आवश्‍यकताओं की पूर्ति में रेलवे अब अपना योगदान और बेहतरीन तरीके से कर पाएगी। ये बजट कृषि क्षेत्र, ग्रामीण क्षेत्र, सामाजिक कल्‍याण, Infrastructure इन सभी क्षेत्रों में एक विशेष ध्‍यान आकर्षित करता है। निवेश बढ़ाने और रोजगार के नये अवसर पैदा करने की दृष्टि से सरकार की जो प्रतिबद्धता है वह इस बजट में साफ-साफ नजर आती है। इन योजनाओं के लिए आवंटन में भी बहुत बढोत्‍तरी की गयी है, सरकारी निवेश को मजबूती देने के लिए रोड और रेल सेक्‍टर के लिए भी आवंटन में काफी वृद्धि की गयी है। सरकार का लक्ष्‍य 2022 तक हमारे देश के किसानों की आय डबल करने का ईरादा है, दोगुना करना है नीतियॉं एवं योजनाएं उसी प्रकार से तय की गयी हैं, बजट में सबसे ज्‍यादा जोर इस बार भी किसान, गॉंव, गरीब, दलित, पीडि़त, शोषित उनपर केंद्रित किया है।
Agriculture, Animal husbandry, Dairy, fisheries, watershed development, स्‍वच्‍छ भारत मिशन ये सारे क्षेत्र ऐसे हैं जो गॉंव की आर्थिक स्थिति में बहुत बड़ा बदलाव भी लाएंगे और ग्रामीण जीवन जीने वाले लोगों के Quality of life में भी बहुत बड़ा बदलाव लाएंगे। बजट में रोजगार बढ़ाने पर भी भर पूर जोश दिया गया है नौकरी के लिए नए- नए अवसर पैदा करने वाले सेक्‍टर Electronic manufacturing, Textile उसको विशेष राशि दी गयी है, असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को, संगठित क्षेत्र में लाने के लिए भी व्‍यापक प्रावधान किए गए हैं। Skill development बजट में काफी बढोत्‍तरी की गयी है ये हमारे देश के युवाओं को ध्‍यान में रख करके और जो Demographic dividend है इसका भरपुर फायदा भारत को मिले उस पर ध्‍यान केंद्रित किया है।
महात्‍मा गांधी नेशनल रुरल गॉरेंटी स्‍कीम उसके लिए भी अब तक जितना हुआ है किसी भी वर्ष में न हुआ हो इतना रिकार्ड आवंटन किया गया है। बजट में महिला कल्‍याण पर भी विशेष ध्‍यान दिया गया है, महिलाओं और बच्‍चों से जुड़ी योजनाओं के लिए बजट में वृद्धि की गयी है, सवास्‍थ्‍य और उच्‍च शिक्षा के लिए भी बजट में काफी बढोत्‍तरी की गयी है। आर्थिक विकास में तेजी लाने और रोजगार के नए अवसर बनाने में Housing और construction Sector इसकी बहुत बड़ी भूमिका है ये बजट ग्रामीण के साथ- साथ शहरी इलाकों में भी Housing Sector को मजबूती प्रदान करने वाला है। रेलवे के बजट में एक बात पर विशेष बल दिया है और वो है रेलवे सेफ्टी फंड इस फंड की मदद से रेलवे सुरक्षा पर पर्याप्‍त धन – राशि खर्च करने में मदद मिलेगी। बजट में रेलवे और रोड Infrastructure, Capital expenditure में काफी बढोत्‍तरी कर दी गयी है।
Digital Economy के लिए जो comprehensive package दिया गया है उससे टैक्‍स चोरी की संभावनाएं कम होंगी और अर्थ व्‍यवस्‍था में काले धन के प्रवाह पर नियंत्रण संभव होगा। Digital Economy को एक मिशन के तौर पर शुरू किए जाने से आने वाले वर्ष में 2017-18 में दो हजार पांच सौ करोड़ Digital transaction के बड़े लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने में बहुत बड़ी मदद मिलेगी। हमारे वित्‍तमंत्री जी ने कर प्रणाली में जो सुधार और संशोधन किए हैं उससे मध्‍यम वर्ग को राहत मिलेगी उद्योगों की स्‍थापना होगी, रोजगार के अवसर मिलेंगे, भेद-भाव के अवसर खत्‍म होंगे और सबसे महत्‍तवपूर्ण पहलू है कि निजी निवेश को प्रोत्‍साहन मिलेगा।
बजट में वैयक्तिगत Income Tax कम करने की घोषणा देश के मध्‍यम वर्ग को ज्‍यादा स्‍पर्श करती है, बड़ी महत्‍तवपूर्ण है। 10 प्रतिशत से एकदम 5 प्रतिशत कर देना बड़ा साहसपूर्ण निर्णय है। करीब-करीब हिन्‍दुस्‍तान के अधिकतम कर दाताओं को इससे बहुत बड़ा लाभ होने वाला है। आपने देखा होगा बजट में कालेधन और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई निरंतर चल रही है। Political Funding की चर्चा हमारे देश में बहुत होती रही है, राजनीतिक दल हमेशा चर्चा के घेरे में रहे हैं, चुनाव के अंदर Donation एकत्र करने की नयी योजना भी वित्‍तमंत्री जी ने देश की आशा और आकांक्षा और काले धन के खिलाफ अपनी लड़ाई के अनुरूप प्रस्‍तुत की है। देश के छोटे और मध्‍यम उद्योग नौकरी के नए अवसर पैदा करने के सबसे बड़े स्रोत हैं। इन उद्योगों की पूरानी मॉंग रही है कि Global competition में वैश्विक स्‍तर पर मुकाबला करने में उनकों कठिनाइयां आ रही हैं। अगर इसके लिए टैक्‍स कम किया जाए तो हमारे लघु उद्योग जो कि करीब-करीब 90 प्रतिशत से ज्‍यादा हैं, देश में और इसलिए सरकार ने छोटे-छोटे उद्योगों को और उसमें परिभाषा में बदलाव करके उनके दायरे को भी बढाया है और टैक्‍स को भी 30 प्रतिशत से घटा करके 25 प्रतिशत कर दिया है। यानि देश के उद्योग जगत के 90 प्रतिशत से ज्‍यादा लोग इसका लाभ ले पाएंगे। ये फैसला मुझे विश्‍वास है कि देश के छोटे उद्योगों को Globally competitive बनने में बहुत बड़ी मदद करेगा।
ये बजट देश के विकास के लिए एक मजबूत कदम है इस बजट से रोजगार के नए अवसर पैदा होगें संपूर्ण आर्थिक विकास में मदद मिलेगी किसानों की आमदनी बढ़ाने में ये पूरक होगा। नागरिकों को उनकी Quality of life को ध्‍यान में रखते हुए शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, आवास ये सारी चीजों में अति अच्‍छी सुविधा की संभावना बढ़ेगी और बिना वित्‍तीय घाटा बढ़ाए देश के मध्‍यम वर्ग के पास उसकी खरीद शक्ति बढ़े उसके जेब में ज्‍यादा पैसे आएं। उस दिशा में प्रयास है, एक प्रकार से ये बजट हमारा देश जो बदल रहा है उसको और अधिक तेजी से बदलने का प्रयास एक प्रकार से हमारे स्‍वपनों से जुड़ा हुआ, हमारे संकल्‍पों से जुड़ा हुआ, ये बजट एक प्रकार से हमारा Future है। हमारी नयी पीढ़ी का Future है, हमारे किसान का Future है और जब मैं Future कहता हॅूं तब उसका मेरे मन में एक meaning है। F से Farmers किसानों के लिए; U से underprivileged दलित, पीडि़त, शोषित, वंचित, महिला उनके लिए; T से Transparency पारदर्शिता Technology का Up gradation, आधुनिक भारत बनाने का स्‍वपना; U से Urban Rejuvenation शहरी विकास के लिए; और R से Rural Development ग्रामीण विकास के लिए; और E से नौजवानों के लिए Employment उद्योग साहसियों के लिए Internship, Enhancement नए रोजगार को बढ़ावा देने के लिए नौजवान उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए मैं इस बजट के लिए इस Future को प्रस्‍तुत करते हुए वित्‍तमंत्री जी को फिर से एक बार बधाई देता हूँ, और देश वासियों को उनके स्‍वपने साकार करने की दिशा में ये बजट एक बहुत बड़ी सहाय व्‍यवस्‍था है जो देश को आगे भी बढ़ाएगा। विकास की नयी ऊंचाइयों को पार करेगा और देश में एक नया विश्‍वास का महौल बनाने में ये बजट बहुत ही उपकारक होगा। ऐसा मेरा पूरा विश्‍वास है, फिर एक बार वित्‍तमंत्री को, वित्‍त मंत्रालय को उनकी पूरी टीम को हृदय से बहुत-बहुत बधाई।

स्रोत : pmindia.gov.in

No comments:

Post a Comment