2017-09-24

केंद्र सरकार ने देश के शहरों में कचरे के समुचित तरीके से प्रबंधन के लिए एक ‘नेबरहुड एक्शन प्लान’ का शुभारम्भ किया है

केंद्र सरकार ने देश के शहरों में कचरे के समुचित तरीके से प्रबंधन के लिए एक ‘नेबरहुड एक्शन प्लान’ का शुभारम्भ किया है 

आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी कहते हैं, दिल्ली के कचरे-निष्पादन का संकट दूर किये बिना देश स्वच्छ नहीं हो सकता 

उन्होंने लोगों में राष्ट्रीय राजधानी में रहने का गौरव-बोध जगाते हुए उन्हें काम में जुटने के लिए प्रेरित किया 



आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने इस बात जोर देते हुए कि दिल्ली में कचरे की समस्या, जो आनुपातिक रूप से अपने चरम पर पहुंच गई, है
, का समुचित हल निकाले बिना देश को साफ-सुथरा नहीं रखा जा सकता। उन्होंने लोगों में राष्ट्रीय राजधानी के बाशिंदे होने का गर्व-भाव जगाते हुए उन्हें कचरा निष्पादन के प्रभावी व ठोस प्रबंधन में सामूहिक स्तर पर जुटने का आह्वान किया। श्री पुरी ने दक्षिणी एमसीडी द्वारा कूड़ा चुनने/छांटने वाली आयातित आधुनिक मशीन का भी उद्घाटन किया।

श्री पुरी ने रविवार को दक्षिण दिल्ली के भीकाजी कामा प्लेस में आयोजित ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान में भाग लिया। बाद में वहां उपस्थित लोगों, स्वच्छता में लगे कार्यकर्ताओं, मंत्रालय और एसडीएमसी के अधिकारियों को संबोधित किया, जिन्होंने उनके साथ-साथ श्रमदान में हिस्सा लिया।

माननीय मंत्री ने यह रेखांकित किया कि  दिल्ली के नागरिक और इसके बाशिंदा होना ‘गौरव की बात’ है और यह एक अनोखा विशेषाधिकार है, जो बेहतर सेवाओं और सुविधाओं के रूप में अनेक तरह के लाभ देता है, जो देश के अन्य शहरों में सुलभ नहीं हैं। उन्होंने दिल्ली मेट्रो का उदाहरण दिया कि जिसमें केंद्र और राज्य सरकारों ने भारी व्यय किया हुआ है और वे भविष्य में भी इसमें धन लगा रहे हैं। श्री पुरी ने कहा कि अगर दिल्ली साफ-सुथरी नहीं की गई और कचरे के निस्तारण का समुचित इंतजाम नहीं किया गया तो दिल्लीवासी होने का यह गौरव छीन जाएगा।

दिल्लीवासियों से प्रभावी भूमिका में आने की अपील करते हुए श्री पुरी ने कहा,‘‘राष्ट्रीय राजधानी में रहने के गर्व को जगाएं और सुस्ती छोड़ें और कचरा प्रबंधन के लिए प्रभावी ठोस इंतजाम करने में अपना योगदान दें तभी हम कचरे की समस्या से निजात पा सकते हैं, जो हम सभी के जीवन पर बुरा असर डाल रहा है।’’

श्री पुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने जिस इरादे, जुनून और ऊर्जा के साथ स्वच्छ भारत अभियान का संचालन करते रहे हैं, उसका अभूतपूर्व परिणाम पूरे देश में स्वच्छता के साथ लोगों के ‘व्यक्तिगत जुड़ाव’ के रूप में सामने आया है। इसके चलते तीन वर्षो की कम अवधि में ही पूरे देश में पांच करोड़ शौचालयों का निर्माण संभव हुआ है। इनमें शहरी इलाकों में बनाये गए 38 लाख शौचालय भी शामिल हैं।

अगले दो वर्षो में देश के शहरों में कचरा निष्पादन के ठोस प्रबंधन को एक बड़ी चुनौती करार देते हुए श्री पुरी ने कचरे के ठोस प्रबंधन की श्रृंखला की सफलता के लिए स्वच्छता के साथ पहले के ‘व्यक्तिगत जुड़ाव’ को ‘सामाजिक जुड़ाव’ में बदलने पर बल दिया। लोगों के अपने निकटस्थ पड़ोसियों के साथ सहज जुड़ाव को देखते हुए मंत्री महोदय ने ‘घर भी साफ और पड़ोसी भी साफ अभियान का प्रारंभ किया। इस अभियान के छह मुख्य कारक हैं :-----

कचरा निष्कासन की जगह ही उनके स्वरूप के हिसाब से अलग करना।
उसी आहाता/पड़ोस/ इलाके में गीले कचरे से कम्पोस्ट बनाना।
सूखे कचरे की रिसाइकलिंग (पुनर्चक्रण) करना।
पड़ोस को खुले में मल-मूत्र त्याग से मुक्त रखना।
पड़ोसियों को खुले में कूड़ा-कर्कट न फेंकने के लिए प्रेरित करना।
कचरा जमा करने या उसके पृथक्कीकरण के लिए रिहाइश के पास के पार्क या खुली जगह का जिम्मा लेना
श्री पुरी ने कहा कि इस नेबरहुड एक्शन प्लान से लैंडफिल को भेजे जाने वाले ठोस कचरे का परिमाण घटेगा। इसके अलावा, कचरे से कम्पोस्ट और कचरे से ऊर्जा बनाने में सुविधा होगी। नेबरहुड का मायने आवासीय सोसाइटी, कालोनी, मुहल्ला और बाजार आदि है।  

मंत्री महोदय ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तीन साल पूरे होने के अवसर पर दो अक्टूबर से नेबरहुड एक्शन प्लान को देश के सभी नगरों और शहरों में शुरू किया जाएगा। उन्होंने दिल्लीवासियों से इसको प्लान को सफल बनाने की अपील की। 

श्री पुरी ने इस अवसर पर मालवीय नगर एसडीएमसी स्कूल के बच्चे द्वारा खेले गए नुक्कड़ नाटक को भी देखा। नाटक में लोगों के खराब स्वास्थ्य के कारण और दुष्परिणाम के बारे में आगाह करते हुए स्वच्छ भारत के लिए नागरिकों की भागीदारी की जरूरत पर बल दिया गया था। श्री पुरी ने नाटक की सराहना करते हुए इसके प्रतिभागियों को 1000 रुपये बतौर पुरस्कार भी दिये।

श्री पुरी ने भीकाजी कामा प्लेस इलाके का भी निरीक्षण किया और वहां की इमारतों के खराब रख-रखाव पर चिंता जाहिर करते हुए एसडीएमसी के नगरपालिका आयुक्त को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिये।

दक्षिण दिल्ली नगरपालिका कॉरपोरेशन की मेयर सुश्री कमलजीत शेहरावत, एसडीएमसी के आयुक्त डॉ. पुनीत गोयल के साथ मंत्रालय व एसडीएमसी, एवं लोगों ने भी श्रमदान में भाग लिया।   



‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के दौरान 24 सितम्बर 2017 को एसडीएमसी द्वारा  कूड़ा उठाने वाली आयातित आधुनिक मशीन का उद्घाटन करते आवासीय एवं शहरी मामलों के मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी। मंत्रालय के सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्र भी इस मौके पर मौजूद थे।

******
http://pib.nic.in/newsite/hindirelease.aspx

Source: PIB

No comments:

Post a Comment

Click on the desired scheme to know the detailed information of the scheme
किसी भी योजना की विस्‍तृत जानकारी हेतु संबंध्‍ाित योजना पर क्लिक करें 
pm-awas-yojana pmay-gramin pmay-apply-online sukanya-samriddhi-yojana
digital-india parliamentray-question pmay-npv-subsidy-calculator success-story
faq mann-ki-bat pmjdy atal-pension-yojana
pm-fasal-bima-yojana pmkvy pmegp gold-monetization-scheme
startup-india standup-india mudra-yojana smart-cities-mission