All about Pradhan Mantri yojana and other government schemes in India.

प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना पढाई के खर्च की टेंशन को दूर करता है

प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना पढाई के खर्च की टेंशन को दूर करता है

 

In order to end the problem of money coming in between students' studies, the Central Government has launched the Pradhan Mantri Vidya Laxmi Yojana. All information related to education loans and other schemes of banks are available to students on this website. Apart from this, they are also saved from traveling to different banks for loans.

Under the Pradhan Mantri Vidyalakshmi Scheme, students can avail 126 types of loans from 13 banks. Under the scheme, students have to fill only one form for the loan. That is, there will be no problem of money in building the future of the students. Apart from this, if they are worried about an education loan and want to complain, then they can also make this complaint from the website of this scheme.

(छात्रों की पढ़ाई के बीच आने वाले पैसे की समस्या को समाप्त करने के लिए, केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना शुरू की है। इस वेबसाइट पर छात्रों को शिक्षा ऋण और बैंकों की अन्य योजनाओं से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध है। इसके अलावा, उन्हें ऋण के लिए विभिन्न बैंकों की यात्रा करने से भी बचाया जाता है।

प्रधानमंत्री विद्यालय योजना के तहत, छात्र 13 बैंकों से 126 प्रकार के ऋण प्राप्त कर सकते हैं। योजना के तहत, छात्रों को ऋण के लिए केवल एक फॉर्म भरना होता है। यानी छात्रों के भविष्य के निर्माण में पैसे की कोई समस्या नहीं होगी। इसके अलावा, अगर वे एजुकेशन लोन को लेकर चिंतित हैं और शिकायत करना चाहते हैं, तो वे इस योजना की वेबसाइट से भी यह शिकायत कर सकते हैं।)

Prime-Minister-Scheme

About Vidya Lakshmi Yojana

Shri Arun Jaitley, Honourable Union Finance Minister in his budget speech for FY 2015-16 said: "India is one of the youngest nations in the world with more than 54% of the total population below 25 years of age. Our young people have to be both, educated and employable for the jobs of the 21st century. The Prime Minister has explained how Skill India needs to be closely coordinated with Make in India. Yet, today less than 5% of our potential workforce gets formal skill training to be employable and stay employable. With a view to enable all poor and middle class students to pursue higher education of their choice without any constraint of funds, I propose to set up a fully IT based Student Financial Aid Authority to administer and monitor Scholarship as well Educational Loan Schemes, through the Pradhan Mantri Vidya Lakshmi Karyakram. We will ensure that no student misses out on higher education for lack of funds. The IT based mechanism under the Pradhan Mantri Vidya Lakshmi Karyakram is expected to provide to students a single window electronic platform for Scholarships and Educational Loans." 

Click here for Frequently Asked Questions (FAQ) related to Vidya Lakshmi Yojana

(वित्त वर्ष 2015-16 के अपने बजट भाषण में माननीय केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने कहा: "भारत 25 वर्ष से कम आयु के कुल जनसंख्या के 54% से अधिक के साथ दुनिया के सबसे युवा देशों में से एक है। हमारे युवाओं के पास है 21 वीं सदी की नौकरियों के लिए शिक्षित और रोजगार दोनों ही हैं। प्रधान मंत्री ने बताया कि कैसे कौशल भारत को मेक इन इंडिया के साथ निकटता से समन्वित किया जाना चाहिए। फिर भी, आज हमारे संभावित कर्मचारियों के 5% से कम रोजगार प्राप्त करने के लिए औपचारिक कौशल प्रशिक्षण प्राप्त होता है। और रोजगार पर टिके रहें। सभी गरीब और मध्यम वर्ग के छात्रों को अपनी पसंद की उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए बिना किसी बाधा के धनराशि देने में सक्षम होने के लिए, मैं पूरी तरह से आईटी आधारित छात्र वित्तीय सहायता प्राधिकरण स्थापित करने का प्रस्ताव देता हूं जो छात्रवृत्ति और साथ ही शैक्षिक ऋण की निगरानी कर सके। प्रधान मंत्री विद्या लक्ष्मी कर्यक्रम के माध्यम से योजनाएँ। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी छात्र धन की कमी के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करने से चूक न जाए। प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी कार्याक्रम के तहत आईटी आधारित तंत्र। छात्रों को छात्रवृत्ति और शैक्षिक ऋण के लिए एक एकल खिड़की इलेक्ट्रॉनिक मंच प्रदान करने की उम्मीद है।)

Vidya Lakshmi is a first of its kind portal for students seeking Education Loan. This portal has been developed under the guidance of Department of Financial Services, (Ministry of Finance) , Department of Higher Education (Ministry of Human Resource Development) and Indian Banks Association (IBA).The portal has been developed and being maintained by NSDL e-Governance Infrastructure Limited. Students can view, apply and track the education loan applications to banks anytime, anywhere by accessing the portal. The portal also provides linkages to National Scholarship Portal.

(विद्या लक्ष्मी एजुकेशन लोन लेने वाले छात्रों के लिए अपनी तरह का पहला पोर्टल है। इस पोर्टल को वित्तीय सेवा विभाग, (वित्त मंत्रालय), उच्च शिक्षा विभाग (मानव संसाधन विकास मंत्रालय) और भारतीय बैंक संघ (IBA) के मार्गदर्शन में विकसित किया गया है। इस पोर्टल का विकास और रखरखाव NSDL e द्वारा किया जा रहा है। -गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड। छात्र पोर्टल पर पहुंचकर, कहीं भी, कभी भी बैंकों को शिक्षा ऋण के आवेदन देख सकते हैं, आवेदन कर सकते हैं और ट्रैक कर सकते हैं। पोर्टल राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल के लिए लिंक भी प्रदान करता है।)

About NSDL e-Gov

NSDL e-Governance Infrastructure Limited (NSDL e-Gov) was originally setup as a Depository in 1995 and has over the years used its inherent strengths, project management capabilities & technology expertise to deliver state of the art e-Governance solutions which has helped Governments to identify and clear bottlenecks, promote transparency, reduce service delivery costs and deliver public services efficiently. The solutions have efficiently made use of information and communication technologies as a tool for delivering public services and benefits to society at large. Some of the key e-Governance projects undertaken by NSDL e-Gov are:

(NSDL ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (NSDL e-Gov) मूल रूप से 1995 में एक डिपॉजिटरी के रूप में स्थापित किया गया था और वर्षों से अपनी ई-गवर्नेंस समाधानों की स्थिति को वितरित करने के लिए अपनी निहित शक्तियों, परियोजना प्रबंधन क्षमताओं और प्रौद्योगिकी विशेषज्ञता का उपयोग किया है जिससे सरकारों को मदद मिली है। बाधाओं को पहचानने और स्पष्ट करने, पारदर्शिता को बढ़ावा देने, सेवा वितरण लागत को कम करने और कुशलतापूर्वक सार्वजनिक सेवाओं को वितरित करने के लिए। समाधान ने कुशलतापूर्वक सूचना और संचार प्रौद्योगिकियों का उपयोग सार्वजनिक सेवाओं और समाज को बड़े पैमाने पर लाभ पहुंचाने के लिए एक उपकरण के रूप में किया है। एनएसडीएल ई-सरकार द्वारा किए गए कुछ प्रमुख ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट हैं):

  • Tax Information Network (TIN)
  • Central Recordkeeping Agency (CRA) for National Pension System
  • Electronic Accounting System in Excise & Service Tax (EASIEST)
  • GST Pilot Project
  • Registrar for Aaadhar enrolment and eKYC/Authentication Services
  • National Judicial Reference System

NSDL e-Gov works closely with various Government agencies for designing, managing and implementing e-Governance Projects. Over a period of time, NSDL e-Gov has gained varied experience and expertise in areas that help Governments overcome various challenges faced by them in fulfilling their core responsibilities of delivering public services to the society.

(एनएसडीएल ई-गवर्नेंस ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट्स को डिजाइन करने, प्रबंधित करने और कार्यान्वित करने के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों के साथ मिलकर काम करता है। समय के साथ, एनएसडीएल ई-गॉव ने उन क्षेत्रों में विविध अनुभव और विशेषज्ञता प्राप्त की है जो सरकारों को समाज में सार्वजनिक सेवाओं को पहुंचाने की उनकी मुख्य जिम्मेदारियों को पूरा करने में उनके सामने आने वाली विभिन्न चुनौतियों को दूर करने में मदद करते हैं।)

NSDL e-Gov has also established Service Centre network across the country which serve as access points for the general public and are efficiently used by Governments to deliver quality services in a user friendly and transparent manner to the citizens. Visit www.egov-nsdl.co.in for more information.

(NSDL ई-गॉव ने देश भर में सर्विस सेंटर नेटवर्क भी स्थापित किया है जो आम जनता के लिए एक्सेस पॉइंट के रूप में काम करता है और सरकारों द्वारा नागरिकों के लिए उपयोगकर्ता के अनुकूल और पारदर्शी तरीके से गुणवत्ता सेवाएं प्रदान करने के लिए कुशलतापूर्वक उपयोग किया जाता है। अधिक जानकारी के लिए www.egov-nsdl.co.in पर जाएं।)

How to get loan under Pradhan Mantri Vidyalakshmi Scheme? (प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना के तहत लोन कैसे प्राप्त करें?)

  • To get a loan, firstly the Prime Minister will visit the Vidyalakshmi Yojana website https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/. (लोन प्राप्त करने के लिए, सबसे पहले प्रधानमंत्री विद्यालय योजना की वेबसाइट https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/ पर जाएंगे)
  • Registration has to be done to apply for a loan. For this, click on the register link of the website. (लोन के लिए आवेदन करने के लिए पंजीकरण कराना होगा। इसके लिए वेबसाइट के रजिस्टर लिंक पर क्लिक करें।)
  • After registering, you will get the ID and password on the mobile number given by you. (रजिस्टर करने के बाद आपको आपके द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर पर आईडी और पासवर्ड मिलेगा। (रजिस्टर करने के बाद आपको आपके द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर पर आईडी और पासवर्ड मिलेगा।)
  • Log in with the given ID and password. (दिए गए आईडी और पासवर्ड से लॉग इन करें।)
  • After logging in, the Common Education Loan Form given on the website has to be filled. (लॉग इन करने के बाद वेबसाइट पर दिए गए कॉमन एजुकेशन लोन फॉर्म को भरना होता है।)
Who needs to give documents for loan (लोन के लिए क्या क्या दस्तावेज देने होंगे)
  • Application Form
  • One ID Proof (Aadhar Card, Voter ID, Electric Bill)
  • Residential Proof ( Aadhar Card, Voter ID, Electric Bill)
  • Passport Size Photo
  • Income Certificate of parents
  • Photo Copy of 10th and 12th Marks Sheet
  • Copy of Admission Letter and Expenditure Details
Source: https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/

Share:

0 comments:

Post a Comment

We are not the official website and are not linked to any Government or Ministry. All the posts published here are for information purpose only. Please do not treat as official website and please don't disclose any personal information here.

Copyright © 2015 Prime Minister's Schemes प्रधानमंत्री योजना. All rights reserved.

Categories

Copyright © Prime Minister's Schemes प्रधानमंत्री योजना | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com